Ehindiquotes. Powered by Blogger.

Swami Vivekananda Thoughts on Success in Hindi | Quotes



कुछ काम करने से पहले हार मत मानिये नही तो
वह कभी भी अच्छा नही होगा।

प्यार वो चीज है जो बचपन मे मुफ्त मिलता है, 
जवानी मे कमाना पडता है, 
बुढापे मे मांगना पडता है।

मजाक और पैसा काफी सोच समझकर उडाना चाहिये।

जो लोग दिल के अच्छे होते है, 
दिमाग वाले उनकी जमकर मजे लेते है। 

जिंदगी मे हुई गलती से लोग बिछड जाते है, 
समय निकलता रहता है,
बिछडे हुये लोग फिर से मिल तो जाते भी है,
लेकिन गलती चाहकर भी भूलायी नही जा सकती।

जो लोग असफलता कि चिंता करते है वे 
हमेशा असफल होते है और जो लोग असफलता कि 
चिंता नही करते, सफलता उनके कदम चुमती है।

कूच चीझे ऐसी होती है जो हम मां को भी 
नही बताते लेकिन कुछ लोग ऐसे होते है
जिने हम बता सकते है वह हमारे अच्छे दोस्त 
होते है।

हम शतरंज नही खेलते क्यो कि दुश्मनो कि हमारे 
सामने बैठ्ने कि औकात नही और दोस्तो के सामने 
हम चाल नही चलते।

swami vivekananda quotes in hindi


सज्जन व्यक्ती के साथ मित्रता उस गन्ने
के समान होती है जिसे आप कितना भी तोडो,
दबाओ, चुसो यहा तक कि उसे पीस भी डालो 
हर बार उसमे से केवल और केवल मिठास हि 
निकलती है ।

अच्छे दोस्तो कि तलाश हम नही करते है
हम तो जिसे दोस्त बनाते है वो भी हमारे लिये 
अच्छे बन जाते है।

अच्छे लोगो कि खुबी यह होती है कि उन्हे याद रखना 
नही पडता, वो याद रह जाते है।

इन्सान खुद कि नजर मे सही होना चाहिये, 
दुनिया तो भगवान से भी दुखी है।

यदी परिस्थितीयो पर आपकी मजबूत पकड है
तो जहर उगलने वाले भी आपका कुछ नही बिगाड सकते।

कायरो कि तरह चूप चाप असहाय जिंदगी जिने कि बजाय
शेर कि जिंदगी जियो क्यो कि शेर कभी अपने हालातो से 
समझोता नही करते।

जिस व्यक्ती को जिने कि चाह हो
वो किसी भी हालत मी जी सकता है।

लोग कहते है कि किसी एक के जाने से जिंदगी रुक नही जाती
लेकिन यह कोई नही जानता के लाखो के मिल जाने के बाद भी 
उस एक कि कमी पुरी नही होती।

जो इन्सान हमेशा दुसरो कि चिंता करता है ,
उसकी चिंता इस जिंदगी मी कोई भी नही करता।

निर्भयता हि आपके जीवन के सफलता का सही राज है।

जो व्यक्ती आपके जीवन मी हसी ला सकती है
वही व्यक्ती आपके जीवन मी अर्थपूर्ण कहलाती है।

आपका जीवन एक पिआनो कि तरह है, 
आप कैसे बजाते हो उसपर वह निर्भर करता है।

कोई लक्ष्य मनुष्य के साहस से बडा नही,
हारा वही जो लडा नही।

आदमी का बडप्पन उसके उमर पर निर्भर नही रहता,
बल्की उसके विचार और सामर्थ्य पे निर्भर करता है।

केवल ज्ञान होने से कुछ फायदा नही है, 
वह कब और कैसे इस्तेमाल किया जाये इसका ज्ञान होना
आवश्यक है।

अच्छे लोगो कि संगत अत्तर के दुकान के जैसी होती है,
खरीदा नही तो भी मन अच्छी खुशबू से भर जाता है।

अगर आप एक पेन्सील बनकर किसी कि ख़ुशी
न लिख सको तो कोशिश करो कि अच्छे रबर 
बनकर किसीका दुख मिटा सको।

जो दुसरो से घृणा करे वह स्वयं पतित होता है।

दो बाते इन्सान को अपनो से दूर करती है
एक तो उसका अहं और दुसरा उसका वहम।

खुद का फायदा करने के लिये दुसरो का इस्तेमाल मत किजिये
और खुद को भी किसीको इस्तेमाल मत करने दो।

मेरा वो सच्चा बोलने से अधिक अच्छा है, कि सच्चा वो मेरा।

पाप और पतन  का एक  निश्चित कारन  है 'भय'।

एक नायक बनो और कहो कि " मुझे कोई डर नही है।"

जिस शिक्षा से हम अपना जीवन निर्माण कर सके,
मनुष्य बन सके, चरित्र गठन कर सके और विचारो 
का सामंज्यस्य कर सके, वही वास्तव मे शिक्षा कहालाना उचित है।

जब तक आप खुद पर विश्वास नही करते तब तक
आप भगवान पर विश्वास नही कर सकते।

दिन मे कम से कम एक बार तो भी खुद से बात किजिये 
…अगर ऐसा किया नही तो जीवन मे एक अच्छे 
व्यक्ती से आपकी मुलाकात रह जायेगी।